Registered by Govt. of Tamilnadu Under act, 1975, SL No. 280/2015
Registered by Govt. of India Act XXI 1860, Regn SEI 1115

  • इस वर्ष का पंचगव्य चिकित्सा महासम्मेलन कर्णाटक प्रान्त स्थित बैंग्लोर सिटी स्थित आर्ट ऑफ़ लिविंग के मुख्य कार्यालय परिसर में 1 -2 -3 दिसम्बर माह में आयोजित किया गया है| समय प्रातः 5 बजे से रात्रि 9 बजे तक पंजीकरण शुल्क 1100 रुपए मात्र, भोजन एवं निवास के लिए अलग से सम्पर्क करें- गव्यसिद्ध डॉ. भारती  9916025881, गव्यसिद्ध प्रदीप आसन 9019252427, गव्यसिद्ध तेजस्वनी एस.8310967840

  • प्रतिक्रिया

    प्रादेशिक संगठन

  • पंचगव्य विचार (Poll) 18:05:23

    भारत में पंचगव्य सहित कई पारंपरिक चिकित्सा उच्चकोटि के हैं लेकिन सरकारें इनकी वैद्द्यता पर प्रश्न चिन्ह लगा कर रखा है, ऐसी पारंपरिक विद्द्या को पुर्णतः स्थापित करना होगा. – वैद्द्य महासभा, केरल

    View Results

    Loading ... Loading ...
  • सूचना

  • सभी थेरेपी के डॉक्टर, वैद्द्य, थेरेपिस्ट आदि के लिए उपयोगी पाठ्यक्रम
    (1) एडवांस पंचगव्य थेरेपी – 1 वर्ष का पाठ्यक्रम एवं 1 वर्ष का अभ्यासक्रम
    (2) इंटीग्रेटेड पंचगव्य थेरेपी – 1.5 वर्ष का पाठ्यक्रम एवं 1 वर्ष का अभ्यासक्रम
    (3) गर्भशुद्धि-गर्भधारण-प्रसूति व बालपालन थेरेपी – 5 दिवस
    (4) विशेषज्ञ कोर्स – हृदय, कैंसर, अर्थरेटिक्स, टीबी, चर्मरोग, माइग्रेन, पुरुष बाँझपन, नारी बाँझपण, बाल रोग, सिकल सेल, फस्टएड, हड्डी, डायबीटीक्स. – 3 दिवस
    भारत में पहली बार सभी भारतीये भाषाओं में पंचगव्य चिकित्सा विज्ञान (गऊमाँ के गव्यों) की आधिकारिक पढाई. पंचगव्य अब एक सम्पूर्ण चिकित्सा थेरेपी. हमारा नारा है
  • आन्दोलन से जुड़ें

  • प्रतिक्रिया

    सदस्य 1 –
    सदस्य 2 –
    सदस्य 3 –
    सदस्य 4 –
    सदस्य 5 –